लाल किताब के अचूक 10 काम जो एक साल में दो बार जरूर करे

lal kitab remedies

लाल किताब बहुत ही रहस्यमयी किताब है जिसमे हर तरह के उपाय बताए गए है एवं उससे भी ज्यादा उसमे सावधानी बताई गई है। आज के लेख में हम आपके लिए लेकर आए है लाल किताब के दस ऐसे उपाय जिन्हे आप वर्ष में दो बार जरूर करे। इन उपायों की मदद से आप हर तरह के संकट से बच पाएगे और जीवन में बहुत सी तरक्की करते जाएगे।

पहला उपाय

सबसे पहले अलग अलग पानीदार नारियल ले। उसके बाद में अपने और अपने परिवार के सदस्यों के ऊपर से कम से कम 21 बार वार करके उसे अग्नि में जला दे। इसी तरह से 21 बार वारने के बाद में उसे पानी में बहा दे। इस कार्य को आप किसी भी गुरूवार के दिन कर सकते है। इस उपाय को करने से किसी भी तरह की अला बला, नजर आदि समाप्त हो जाएगी।

दूसरा उपाय

तांबे के लोटे के अंदर जल भरकर उसको अपने सिरहाने रख कर सोए और सुबह उठते ही उसे बाहर ढोल दे या फिर कीकर के वृक्ष में डाल दे। इस उपाय को कम से कम 11 दिन करे। इससे हर तरह की शारीरिक एवं मानसिक रोग दूर हो जाएगे।

तीसरा उपाय

सबसे पहले काला और सफ़ेद दो रंग का कंबल ले उसके बाद में २१ बार उसको खुद पर वार लीजिये फिर किसी गरीब को दान कर दे। इस कार्य को आप एक बार भी कर सकते है और इस कार्य को शनिवार को ही करे तो ज्यादा अच्छा रहेगा।

चौथा उपाय

बहते हुए पानी के अंदर रेवड़िया, बताशे, शहद या फिर सिन्दूर बहाए। इस कार्य को मंगलवार के दिन करे तो बहुत अच्छा रहेगा। इसको करने से हर तरह के मंगलदोष दूर हो जाएगें।

पांचवा उपाय

आँखों में कभी कभी काला सुरमा लगाए और कम से कम 11 दिन तक ऐसा लगातार करे। यह भी मंगल का उपाय है।

छठा उपाय

साल में कम से कम दो बार किसी अंधे को, अपंग को, संन्यासियों को या कन्याओं को अवश्य भोजन कराए। ऐसा करने से हर तरह का शनिदोष दूर हो जाएगा।

सातवा उपाय

साल में दो बार कम से कम दो बार जरूर चौला जरूर चढ़ाए। एक बार मंगलवार को और दूसरी बार शनिवार को। ऐसा करने से हनुमान जी की कृपा आप पर बनी रहेगी।

आठवां उपाय

एक साल में कम से कम दो बार कही पर भी नीम, पीपल, बरगद, शमी और आम के वृक्ष लगाने चाहिए।  ऐसा माना जाता है कि इंसान को एक पीपल, एक नीम, दस इमली, तीन कैथ, तीन बेल, तीन आंवला और पांच आम के वृक्ष लगाता है तो कभी भी नरक के दर्शन नहीं करता है।

नौवां उपाय

वर्ष  में एक बार तो किसी भी तीर्थ स्थान पर घूमने जरूर जाए। तीर्थ में जाने का उल्लेख लाल किताब में मिलता है।  ऐसा करने से देवी देवताओ का आशीर्वाद आप पर हमेशा बना रहता है।

दसवां उपाय

वर्ष में जितना हो सके उतना पशु पक्षियों को भरपेट भोजन जरूर कराए और उन्हें अच्छी तरीके से पानी पिलाए।  ऐसा माना जाता है कि जो व्यक्ति अपने परिवार के सभी सदस्यों से बराबर मात्रा में रुपए लेकर एक ही दिन में 100 गाय या कुत्तों को रोटी या हरा चारा खिलाता है उसके सभी संकट दूर हो जाते हैं।

Like and Share our Facebook Page.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


*